• Question

      सही कथनो के विकल्प को चुनिए -

      i) सन् 1966 में मानक देवनागरी वर्णमाला प्रकाशित की गई

      ii) 1967 में ‘हिंदी वर्तनी का मानकीकरण’का प्रकाशन हुआ।

      iii) केंद्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा सन 1983 में देवनागरी लिपि तथा हिंदी वर्तनी का मानकीकरण नामक पुस्तक का प्रकाशन किया गया।

      iv)राजभाषा आयोग ने 31 जुलाई, 1956 को अपना प्रतिवेदन राष्ट्रपति को प्रस्तुत किया।

      A i, ii, और iv Correct Answer Incorrect Answer
      B i, iii, और iv Correct Answer Incorrect Answer
      C ii, iii, और iv Correct Answer Incorrect Answer
      D सभी सही है Correct Answer Incorrect Answer
      E इनमें से कोई नहीं Correct Answer Incorrect Answer

      Solution

      तत्कालीन शिक्षा मंत्रालय द्वारा सन 1966 में परिवर्धित देवनागरी वर्णमाला नामक पुस्तिका प्रकाशित की गई। वर्णमाला के साथ ही हिंदी वर्तनी की विविधता को दूर कर वर्तनी की एकरूपता स्थापित करने का भी तत्कालीन शिक्षा मंत्रालय ने प्रयास किया और हिंदी वर्तनी की विभिन्न समस्याओं को दूर करने के लिए भाषाविदों के साथ गंभीर विचार -विमर्श के पश्चात 1967 में हिंदी वर्तनी का मानकीकरण नामक पुस्तक का प्रकाशन किया। मानक देवनागरी वर्णमाला, परिवर्धित देवनागरी वर्णमाला और हिंदी वर्तनी का मानकीकरण इन तीनों पुस्तिकाओं के समन्वित रूप को संशोधन और परिवर्धन के साथ केंद्रीय हिंदी निदेशालय द्वारा सन 1983 में देवनागरी लिपि तथा हिंदी वर्तनी का मानकीकरण नामक पुस्तक का प्रकाशन किया गया।

      Practice Next
      ×
      ×